बेकली से मुझे राहत होगी's image
1 min read

बेकली से मुझे राहत होगी

Hasrat MohaniHasrat Mohani
0 Bookmarks 34 Reads0 Likes

बेकली से मुझे राहत होगी

छेड़ दें आप इनायत होगी

वस्ल में उन के क़दम चूमेंगे

वो भी गर उन की इजाज़त होगी

बे-क़रारी के मज़े लूटेंगे

आज फिर दर्द की शिद्दत होगी

एक दिन खोल के जी रो लेंगे

ज़ब्त-ए-ग़म की जो इजाज़त होगी

क़िस्सा-ए-ग़म न कहूँगा 'हसरत'

जौर की उन के शिकायत होगी

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts