मैं तरद्दुद से कभी ख़ाली नहीं's image
1 min read

मैं तरद्दुद से कभी ख़ाली नहीं

Nooh NarviNooh Narvi
0 Bookmarks 51 Reads0 Likes

मैं तरद्दुद से कभी ख़ाली नहीं

आशिक़ी में फ़ारिग़-उल-बाली नहीं

कह रही है ये तिरी तस्वीर भी

मैं किसी से बोलने वाली नहीं

लोटता है दिल तड़पता है जिगर

कोई अपने काम से ख़ाली नहीं

'नूह' को तूफ़ान-ए-ग़म से ख़ौफ़ क्या

उस की कश्ती डूबने वाली नहीं

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts