कविनामा-3(नरेन्द्र जैन के लिए)'s image
1 min read

कविनामा-3(नरेन्द्र जैन के लिए)

Neelabh Ashk (Poet)Neelabh Ashk (Poet)
0 Bookmarks 42 Reads0 Likes


उससे मिलना
मिलना है एक प्रागैतिहासिक ताड़ के गाछ से

पत्तों की छतरी के नीचे
सुचिक्कण काया
और विचार में डूबे हुए सयाने सरीखी मुद्रा

इसके फल तो आप पान में नहीं खा सकते
न चढ़ा सकते हैं पवित्र पर्वों पर देवपूजा में
मगर इसका रस धरती की शक्ति का प्रतीक है
ग्रहण करते ही
पैर भले टिके रहें धरती पर
सिर जा लगता है आकाश से

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts