झूम-झूम चखन को's image
1 min read

झूम-झूम चखन को

Nathuram SharmaNathuram Sharma
0 Bookmarks 42 Reads0 Likes

झूम-झूम चखन को चूम-चूम चंचरीक,
लटकी लटन में लिपट लटकत हैं।
आज इन बैरिन सों बन में बचावै कौन,
अबला अकेली में अनेक अटकत हैं॥

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts