चातुर्मास's image
Share3 Bookmarks 118 Reads5 Likes

सावन, भादवां, आश्विन व कार्तिक के मास,

करिएगा प्रतिपल आंतरिक शुद्धि के प्रयास,

चाहे दिनचर्या की व्यस्तता में समय भागे,

याद रखें, कुंडलिनी ध्यान व एकाग्रता से जागे!

अतीत से ना रखिएगा सोच को संकुचे,

प्रभु का ये स्नेह संदेश आप तक पहुंचे!

साधना व सहजता में अनंत शक्ति भरपूर,

कष्ट भी सदैव रहेंगे आपसे कोसों दूर!

चातुर्मास बनाता आराधना को बेहद खास,

साधना से संतुलित होता जीवन अनायास!

भोजन संग ग्रहण करिएगा प्रभु का प्रसाद,

साधना से विलुप्त होता हैं समस्त प्रमाद,

आप मुस्कुराकर करिएगा ईश्वर का वंदन,

मस्तक पर पूजा के पश्चात् लगाइएगा चंदन!

पंच-भूत सहित तुलसी का हो प्रतिदिन पूजन,

रोज़ पुष्पों की सज्जा हो गर्भगृह में नूतन।


- यति
















No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts