उम्र's image
Share0 Bookmarks 15 Reads1 Likes

मेरी परछाईं मुझसे छोटी पड़ने लगी है,

मेरी ज़िन्दगी के दिन में अब तो दोपहर है।

- विक्की आनंद (कैप्टेन)


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts