महानायक's image
Share0 Bookmarks 270 Reads1 Likes

महानायक


हरीवंशज तू, तुझमें सूर्य सा प्रताप है

सरल सहज माटी से जुड़ा तू अमिताभ है

गंगा का गौरव तू राष्ट्र का अभिमान है

छवि अप्रतिम सिने जगत का नायक महान है

धैर्य का प्रतीक तू घमण्ड कोसों दूर है

दीप सा ज्वलंत तू एक अकेला शूर है

प्रेरणा हर कलाकार की तू अदभुत मिसाल है

हर किरदार जीवंत तुझसे तेरी छवि बेमिसाल है

आवाज़ की क़ायल दुनिया तेरी बोली में मीठास है

शब्दों में ठहराव ग़ज़ब का कंठ सरस्वती का वास है

करोड़पति के मंच पर तुमने सबको गले लगाया है

स्त्री हो या पुरूष तुम्हें हर उम्र ने अपनाया है

तेरे वक्तित्व के आगे सभी प्रतिभागी निशब्द थे 

अभिनय के जादूगर को देख सम्मुख सारे स्तब्ध थे

धन-राशि का लोभ नहीं सिर्फ तुझसे मिलने की चाह है

के बी सी के मंच का तू ही शहंशाह है

चला सदैव अग्नीपथ पर ना रोक पायी कोई दीवार है

छोटा या बड़ा परदा बस चले तेरी सरकार है

जीवन में झेला हर तूफ़ान और तोड़ी हर ज़ंजीर है

बादशाह भी नतमस्तक हो आगे जिसके तू वो वज़ीर है

सिलसिला तेरे अभिनय का ना कभी रुक पाए 

रहे १०२ नॉट आउट सदा कभी ना कहे गुड बाय


-सुधीर बडोला

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts