लड़ाई अब खुद से है !!'s image

लड़ाई अब खुद से है 

इसलिए जीत हार से परे है !!

दूसरों पर तो है पूरा यकीन

पर स्वयं पर संशय भारी है!!

खुशी तो दहलीज पर है खड़ी 

लेकिन जहन के दरवाजों पर सांकर पड़ी है 

खूब जोर से खनखनाहट तो की किसी ने

अंदर के द्वंद में आवाज कहीं दब सी गई है !!

निकलने की कोशिश है अपनी गिरफत से

पर हथकड़ी भीतर मन में कहीं लगी हैं !!

रोज करता हूं खुद से समझौते की कोशिश

पर बात यादों की पोटली जख्मों से भरी हुई है !!

लड़ाई खुद से है इसलिए जीत हार से हारी है

जब तक नही करोगे खुद से बात ये जंग जारी है !!

शैलेंद्र शुक्ला "हलदौना"



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts