इश्क़'s image
Share0 Bookmarks 77 Reads0 Likes
तलाश ज़माने से मेरा आईना ना कर
मैं वजूद हूँ ,ख़ुद का मेरा कोई दूसरा नहीं
सिफ़त ज़ाहिदों की तरह है न शब -गुज़ार सी है
मैं फ़क़त इश्क़ -ए -हबीब हूँ कोई दूसरा नहीं

__________________________________________

सिफ़त *- की तरह
ज़ाहिद *- धार्मिक व्यक्ति
शब -गुज़ार *- रातों को इबादत करने वाला
फ़क़त *- केवल, सिर्फ 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts