कसमों की सिगरेट's image
Share0 Bookmarks 44 Reads1 Likes

कुछ सिगरेट इसलिये जलीं,

ताकि गवाह बन सकें,

जागती रातों के गमों की।


और कुछ इसलिये न जल सकीं,

ताकि रख सकें भरम,

किसी की दी हुई कसमों की।


-संजू

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts