तोहमत's image
Share0 Bookmarks 159 Reads4 Likes
जिन्होंने कभी हाल-ए-दिल ना पूछा,
वो तोहमत लगाने आ गए हैं।
बिना जाने दास्तान-ए-हकीकत,
मुजरिम करार देने आ गए हैं।

~सम्रिता©

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts