शाम का दामन थाम कर … ख़याल तेरे दौड़ आते ...'s image
Love PoetryPoetry1 min read

शाम का दामन थाम कर … ख़याल तेरे दौड़ आते ...

SajidaKJSajidaKJ February 3, 2022
Share0 Bookmarks 61 Reads1 Likes

शाम का दामन थाम कर … ख़याल तेरे दौड़ आते है 


ख़ैरियत हमारी पूछ कर … मुस्कुराकर चले जाते है 


#साजिदा

@HindiPoemz 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts