अल्फ़ाज़ों में ज़ाहिर हो वो ख़ामोशी हो तुम …'s image
Romantic PoetryPoetry1 min read

अल्फ़ाज़ों में ज़ाहिर हो वो ख़ामोशी हो तुम …

SajidaKJSajidaKJ March 14, 2022
Share1 Bookmarks 74 Reads1 Likes

अल्फ़ाज़ों में ज़ाहिर हो वो ख़ामोशी हो तुम …


हर पन्ने पर लिख सके वो एहसास हो तुम …


#साजिदा

@HindiPoemz 

#SajjShayeri 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts