Geet's image

मुश्किलों में मिरा दिल जले और भी

कब चमन में  कभी गुल खिले और भी

लोग उसको मगर थे मिले और भी



में भी पूछूँ तुझे दर्द है या नहीं

इश्क़ मुझसे मगर अब तो होगा नहीं

 क्यों न बाकी रहे सिलसिले और भी 



साहिल फ़ारूक़ी अमरोहवी


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts