फूल बनकर's image
Share0 Bookmarks 61 Reads0 Likes

फूल बनकर सदा मुस्कराते रहो

तुम्हारे कदमों में जन्नत झुक जाएगी,

मुस्कान बांटते रहो हर इंसान में

प्यार की बगिया खिल जायेगी ।

खुशबू बनकर फिजा में महकते रहो

ये फिजा की रंगत बदल जायेगी,

शुष्क चेहरों पर मुस्कान लाओ कभी

इंसानियत में खुशरंग आ जायेगी ।

फूल बनकर सदा मुस्कराते रहो,

तुम्हारे कदमों में जन्नत झुक जाएगी ।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts