भिखारी बच्चे's image
Share0 Bookmarks 51 Reads0 Likes

मैले कुचैले फटे कपड़े, हाथों में कटोरा लिए ,

बडी बडी गाडिय़ों के पीछे भागते मासूम बच्चों को देखा है,

आंखों में निराशा है पर जीवन जीने की अभिलाषा है,

दिन रात भागते हैं एक रोटी के लिए, पर उन्हे शिकायत नहीं किसी से,

ना लोगों से ना ईश्वर से ?Dirty torn clothes, with a bowl in hand,
Have seen innocent children running behind big cars,
There is despair in the eyes but there is a desire to live life,
They run day and night for one bread, but they do not complain to anyone,
Neither from people nor from God?



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts