हिफाज़त's image
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes

इतनी भीड़ में:-
मैं समझ नहीं पाता ,
आखिर किस-किस की "इबादत" करूँ ,
यहाँ तो सब संकट में हैं:-
भला मैं अकेला ,
आखिर किस-किस की 'हिफाज़त' करूँ ,
                      ~ रोहित के.डी.

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts