उफ्फ़'s image
Share0 Bookmarks 31 Reads1 Likes

जुलाहा हूँ साहब

काठ का काम ही जानता हूँ

और उन्हे ही तराशता हूँ

दिमागी दीमक को मै नहीं ठीक कर पाता हूँ

#ravim1987 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts