यू तो..'s image
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes



*यू तो नज़रो के सामने रखी चीज़ भी नज़र नहीं आती मुझे ,

फिर क्यू तुम्हारा नाम हर जगह बिना ढुन्ढे ही मिल जाता है 


*यू तो चंद मिनटो पहले कही बात भी भूल जाती हूँ मैं, 

फिर क्यू तुम्हारी कहा हर शब्द हरदम मेरे कानो में गुंजता है 


*यू तो ज़रा-सी बात पर भी तन जाती हैं ये भौंहे 

फिर क्यू तुम्हें देखते ही दिल मुस्कुराने लगता है 


*यू तो लोगों को अपनी कही हर बात दोहरानी पडती है मुझे, 

फिर क्यू तुम्हारा मौन भी जैसे ये आंखे पढ लेती है 


*यू तो कई चोट खाकर भी चुप रहती है ज़ुबा, 

फिर क्यू तुम्हारी ज़रा-सी बेरुखी से आंखें नम हो जाती है

 

*यू तो हर रोज़ ही सफ़र करना आदत है मेरी,

फिर क्यू तुम तक पहुंचकर मन्ज़िल मिली ही लगती है.


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts