Blessing of God's image
Share0 Bookmarks 95 Reads0 Likes
कुछ सफर आसान नहीं होते लेकिन खूबसूरत होते हैं, उन्हीं में है स्त्री होना। तमाम बंदिशें , ताने , उलाहने और सबकुछ कर के भी हमेशा लोगों की शिकायतों का केंद्र बिंदु बने रहना , मुस्कुराना और मुस्कुरा कर हर जख्म को सह जाना।
जाने कितना कुछ होना पड़ता है स्त्री को स्त्री होने के सफर में! 
मन घबराता है पुरुष जैसे अधिकार और प्यार पाना चाहता है परंतु अगले ही क्षण स्त्री होने के सुख से गौरवान्वित हो जाता है।
स्त्री होना ईश्वर का आशीर्वाद होना है , जग रौशन है हमारे दम से प्रेम जीवित है और रिश्ते और संस्कार सुरक्षित।
तमाम मुश्किलों परेशानियों को सहते हुए भी हमेशा लगा स्त्री होना सौभाग्य है और सौभाग्य सबको प्राप्त नहीं होता इसलिए ही हम विलक्षण हैं निष्कासित हैं इस समाज से। सदियों से स्त्रियों को रुलाने वाले पुरुष पैदा होते रहे , पैदा होते रहेंगे लेकिन स्त्रियो के लबों की खूबसूरत मुस्कान को छीन नहीं पाए। प्रेम के बिना अगर कोई जी सकता है तो स्त्री ही है क्योंकि वो खुद प्रेम है उसे प्रेम के लिए किसी के पास नहीं जाना पड़ता।

~प्रतिमा श्रीवास्तव

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts