अभी हम ज़िंदा हैं's image
Poetry1 min read

अभी हम ज़िंदा हैं

Pranav AmbasthaPranav Ambastha February 13, 2022
Share0 Bookmarks 19 Reads0 Likes

ऐ वक़्त ! 

यूँ न मुँह फेर मुझसे,

क्यूँ इतना शर्मिंदा है !

दे दे कुछ और ज़ख़्म 

अभी हम ज़िंदा हैं।


~अम्बष्ठ

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts