वो भी क्या दिन थे's image
OtherPoetry1 min read

वो भी क्या दिन थे

PnktiPnkti February 2, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads1 Likes
वो भी क्या दिन थे जब हम यार साथ थे,
आज से कुछ साल पहले हम सब दसवीं के छात्र थे,

याद है मुझे कैसे हमने बिना H.W. के काम चलाया था,
और लास्ट पुरा एक semester बस Annual Day की तयारी में बिताया था,

जब एक दूसरे से छाप के last day project submission की थी,
और कितनी मुशक्कत से B'day party में जाने की permission ली थी,

वो भी क्या दिन थे जब हम यार साथ थे,
Bus में खिड़की वाली seat और Games period बस यही खुशी के बात थे,

Trigonometry और periodic table में दुनिया सिमटी थी,
पर हमें क्या पता था की अभी "career choices" की धुन भी जीनी थी,

वो भी क्या दिन थे जब हम यार साथ थे,
जो अब जाने वाले science और commerce के अलग-अलग path थे,

किसे पता था हमारी life definition change होने वाली थी,
Board exam ने ना केवल कक्षाएं बल्की राहें भी बदल डाली थी,

वो भी क्या दिन थे जब हम यार साथ थे,
जीवन के कुछ amazing पल बिताए हमने साथ थे।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts