ख़्वाब's image
Share0 Bookmarks 33 Reads0 Likes

कभी ख़्वाब,

कभी चाह,

कभी ख़्वाहिश कोई।

तुम वो सब हो,

होती न जो मेरी कभी।


कभी धूप,

कभी छाँव,

कभी बारिश हो तुम।

आती भी हो तों,

ठहरती नहीं


- परीक्षित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts