आज फिर सितारों ने फरमाइश की आज फिर जमीं पर चांद आया है's image
Love PoetryPoetry1 min read

आज फिर सितारों ने फरमाइश की आज फिर जमीं पर चांद आया है

सुरेश 'सागर'सुरेश 'सागर' January 3, 2023
Share0 Bookmarks 25 Reads1 Likes

आज फिर सितारों ने फरमाइश की

आज फिर जमीं पर चाँद आया है


ये किस्सा वही पुराना है

ये किस्सा आज फिर दोहराया है 


यूँ हसरत-ए-दीदार में गुजारी है जिंदगी हमने

की आज तेरी तस्वीरों में भी सुकूं पाया है


चाँद सा महबूब है मेरा

या चाँद ने हुस्न महबूब का पाया है


ऐसे ना उलझता था मैं ख़यालों में

तेरे हुस्न-ए-दीदार ने भरमाया है


बादलों की गहराइयों में खोकर तुमने भी कुछ ख्वाब सजाया है 

भूल बैठे हो हमको ऐसे शीशमहल में आशियाना बनाया है 


चंद लम्हों की शोहरत पे इतरा रहे हो

जो मेरे अपनेपन को ठुकराया है 


चाँदनी का गुरुर और ये सोहबत सितारों की

ये चमक भी तो 'सागर' ही लाया है 


~सुरेश 'सागर' 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts