जिंदगी और मौत's image
Poetry1 min read

जिंदगी और मौत

Mukesh Rama RahiMukesh Rama Rahi January 3, 2023
Share0 Bookmarks 34 Reads0 Likes


उम्र तो नही देखी
लेकिन उसकी सिलवटों में एक इंतजार बाकी हैं
मेरे भी जाने का इंतजाम हो गया सब
लेकिन इन नजरों में एक ख्वाब अब भी बाकी है

वक्त से कहा
तो वक्त ने कहा,
अभी जिओ जी भर के
अभी तो इस वक्त का निकलना भी बाकी है

मौत से मत डरना तुम
मौत तो यूँ ही हो जाएगी तुम पर कुर्बान
जिंदगी मिले तो कभी पूछना उस से
सफर में अभी और कितने इम्तिहान बाकी हैं

#राही23

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts