झुमका's image
Share0 Bookmarks 67 Reads0 Likes

 
सज कर मेरे कानों पर
मेरा झुमका इतराता है कुछ ऐसे.....
बेशर्म वो बिन पूछे मेरे गालों को चूमे,
देखूं उसकी तरफ तो जा वो मेरे केशो से चिपके,
उलझे मेरे केशो से ऐसे , 
घिरकर मेरी चुनरी में अटके,
अटके वो कुछ ऐसे,
लिपटी हो प्रेमिका अपने प्रेमी से जैसे।
/महक शर्मा

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts