Mohbbat me iljam's image
Share0 Bookmarks 94 Reads0 Likes

इल्जामो की बाते सुन कर भी, दगा तू देगा यू शक नहीं करते.... 

खुश है तू उस की बाहो में, आलिंगन की किसी उम्मीद पर अब हम नहीं मरते... 

मोहब्बत तेरे हर दिए जख्म से है, शौक से अपने उन घावों को हम नहीं भरते.... 

कितनी ही वफाओ से दहल कर बैठे है, छोटी सी तेरी बेवाफ़ाई से कैसे डरते.... 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts