चार पंक्तियां's image
Poetry1 min read

चार पंक्तियां

Hemant BondreHemant Bondre September 16, 2021
Share0 Bookmarks 31 Reads0 Likes

**सुना है जिंदगी हुनर ए कमाल रखती है।**

**दिल पर आती हर दस्तक़ का हिसाब रखती है।**

**सोच समझकर खोलना गिरह दिल ए नादान की।**

**हुस्न की मूरत भी अदाओं में कटार रखती है।।**



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts