हमारी अधूरी कहानी  (कविता)'s image
Poetry1 min read

हमारी अधूरी कहानी (कविता)

हरिशंकर सिंह 'सारांश 'हरिशंकर सिंह 'सारांश ' May 4, 2022
Share0 Bookmarks 2248 Reads1 Likes
मेरी लेखनी मेरी कविता 
हमारी अधूरी कहानी 
(कविता)

किस्से हैं !
इन्हें तुम हमारी अधूरी
 कहानी न समझना ।
ये तो बस आईना हैं
 अच्छे पलों का ,
 तुम समय की
 बर्बादी न समझना 

चंद अल्फाज जो जुबांँ पर हैं ,
उन्हें कह देना ,
उन्हें अपने सीने में दफन कर 
सयाना न समझना ,
इन्हें तुम हमारी अधूरी
कहानी न समझना ।

किस्से हैं इन्हें तुम हमारी
अधूरी कहानी न समझना ।

हरिशंकर सिंह सारांश 


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts