बेहद ज़रुरी है's image
Poetry1 min read

बेहद ज़रुरी है

HarishHarish October 10, 2021
Share1 Bookmarks 34 Reads1 Likes

"बेहद ज़रुरी हैं ज़िंदगी में

मौसम पतझड़ का ऐ मेरे दोस्त

पहचानते कैसे अपनों को

गर सदा बहार रहती"

-हरीश @Harish_cso

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts