शायरी's image
Share0 Bookmarks 192 Reads1 Likes
वह माँ क्यों रात भर सोई नहीं तुम भी ज़रा सोचो ।
जो  माँ  तुम  को सुलाने के लिए लोरी सुनाती थी।।
( हफ़ीज़ बिन अज़ीज़ )

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts