अमृत महोत्सव 2022's image
Poetry2 min read

अमृत महोत्सव 2022

Gopinath SGopinath S February 4, 2022
Share0 Bookmarks 27 Reads0 Likes

इंडिया एक अनोखी देश हैं

एक सौ चालीस करोड जनांग का परिवार हैं

अंडमान से लड़ाक कच से अरुणाचल

हुम् अलग अलग रंग के हो सकते हैं

हुम् अलग अलग भाषा बोल सकते हैं।

हुम् सब पहले इंडियन ही हैं

बादमे हुम् अपना राज्यके हैं।

 

दक्षिण में कन्नडा, तेलुगु, तमिल और मलयालम भाषा तो

उत्तर में हिंदी, उर्दू, पंजाबी, बंगाली और इतरे भाषाएं हैं

पूर्व में मराठी, गुजराती भाषा हैं तो

पश्चिम में मैथिली, भोजपुरी, ओड़िय, अस्समी और इतरे भाषाएं हैं।

 

हुम् संक्रांति, पोंगल, युगादि, ओनम मनाते हैं तो

और लोग लोरी, होली, बैसाखी, तीज मनाते हैं

देशभर में नवरात्रि, श्रीराम नवमी, दीपावली मनाते है तो

ईद और क्रिसमस में भी आनंद लेते हैं।

 

विजय दशमी के दिन रावण का दहन श्रीराम के हात हुवा तो

पश्चिम में महिषासुर का दहन दुर्गा माता से हुआ

दक्षिण में गणेश, श्रीराम, कृष्ण जयंती मनाते तो

उत्तर में शिव, श्रीराम, काली, लक्ष्मी की पूजा होती है

 

बारिश की मौसम दक्षिणक की केरला से हो कर

पूर्व, उत्तर और पश्चिम में फैलते हैं

दक्षिण में जब गर्मी होती हैं तो

उत्तर में सर्दी खतम होकर गर्मी आती है।

 

कितनाभि अलग हमारा दिनचर्य हो तो भी

हुम् सब इंडिया देश की नागरिक हैं

अब इंडिया देश अमृत महोत्सव मनाते रहे हैं

लेकिन ये भारत खंड हज़ारोंसाल से मौजूद हैं।

 

जै इंडिया माते जै भारत माते।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts