मत रो दिल's image
Share0 Bookmarks 60 Reads0 Likes

मत रो अ दिल यूं चिल्लाना नहीं अच्छा,

सुने मकान में अब तेरी सुनता कौन है।

©गोपाल भोजक

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts