दरख़्त's image
Share0 Bookmarks 159 Reads0 Likes

ज़िंदगी के सफ़र में वो मिला था एक दिन,

धूप से जो बचाता था वो दरख़्त कट गया।

©गोपाल भोजक


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts