इंतजार's image
Share0 Bookmarks 14 Reads0 Likes
मुझे इंतज़ार है कब वो समय आयेगा , 
इतना विश्वास है असमय आयेगा ,
तैयारियां करता था पहले मैं ,
मेरे हिसाब से थोड़े ही समय आयेगा ,

नज़र अगर पैनी रहे तो प्रति-पल मेरा है ,
हरा जरा भी तेज तो प्रतिफल मेरा है ,
संसार में सबसे ज्यादा हमने हारा है ,
ये हार मुझे बहुत प्यारा है ,

जब कर ही दिया जो न करना था क्यों पछताना है?
ध्यान जहा भटका के तन से फिर जुड़ जाता है,
रहना एक ही ओर फासला मैंने बांटा है ,
इसी कारण वो बार बार मुझको गुर्राता है।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts