मैं कौन हूँ?'s image
Share0 Bookmarks 24 Reads0 Likes

मैं कौन हूँ?

अब तक समझ नहीं पाई

मैं कौन हूँ तुम्हारी?


बस इतनी-सी पहचान है मेरी

कि मैं ब्याहता हूँ तुम्हारी?


मैंने तुमको

सब कुछ समझा

लेकिन, तूने कुछ न समझ?


मेरा अपमान करना,

अपना आदर्श बनाया तूने

मेरे ऊपर धौंस जमाना

अपना कर्त्तव्य समझा तूने,

आखिर मैं कौन हूँ?


जब जी में आया अपना लिया,

जी भरते ही झटक दिये ऐसे

मानो मैं कोई नहीं तुम्हारी?

तुम्हीं बता दो

मैं कौन हूँ?


अपने मुख से कह दो

संतुष्ट हो जाऊँगी मैं

गिरगिट बनना छोड़ो

असली रंग में आओ


बहुत मुश्किल है, तुमको

पहचानना

बहुत कठिन है,

तुम्हारा चरित जानना

अब तो बता दो

मैं कौन हूँ?

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts