बात तो बात है's image
Poetry1 min read

बात तो बात है

Dinesh GirirajDinesh Giriraj July 4, 2022
Share0 Bookmarks 113 Reads1 Likes

कभी थोड़ी , कभी ज्यादा भी होती है

बात तो बात है , होती है तो होती है..


कभी जुबां , ख़ामोश भी होती है 

बात तो बात है , होती है तो होती है..


न जानें तन्हाई में आँखें , क्यूं नम सी होती है

बात तो बात है , होती है तो होती है..


दुःख में सुखः की , आहट भी छिपी होती है

बात तो बात है , होती है तो होती है..


संघर्ष भरे रास्तों पर , चुनौतियाँ भी होती है

बात तो बात है , होती है तो होती है..


कभी थोड़ी , कभी ज्यादा भी होती है।



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts