शाम तेरे बिना's image
Share0 Bookmarks 35 Reads0 Likes

आज फिर बारिश हुई 'शहर' में

फिर एक शाम , तेरे बग़ैर ढल रही है ।

संग होते तो महसूस करते इन बारिश की बूंदो को

मगर तेरा साथ न होना, मुझे बहुत खल रही है ।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts