ऐसी दिलचस्प हममें बात हुई थी's image
Love PoetryPoetry2 min read

ऐसी दिलचस्प हममें बात हुई थी

Bharat SinghBharat Singh January 10, 2023
Share0 Bookmarks 280 Reads1 Likes

ऐसी क्यूट मेरी स्वीटहार्ट थी

ऐसी दिलचस्प हममें बात हुई थी

कह नहीं पाई वह जो बात मैंने सुनी थी

उसके दिल में दबे जज्बात मैंने पढ़े थे

बिना बोले ही उसने लव यू बोल दिया

आंखें हमारी जब चार हुई थी

आंखों ही आंखों में करार हुए थे

खुली आंखों से ही हमने सपने देखे थे

जेठ की दुपहरी में सब बात हुई थी

बातें भी सारी सरेआम हुई थी

प्यार वाली भाषा किसी से ना डिकोड हुई थी

ऐसी प्यारी प्यारी हमारी मुलाकात हुई थी



फिर एक दूजे के लिए हम बेकरार हुए थे

इशारों - इशारों में ही सब बात हुई थी

ऐसे ही हममें नंबरों का आदान-प्रदान हुआ था

फिर दिलचस्प हममें एक कॉल हुई थी

ना उसने कुछ बोला ना हमने कुछ बोला

कांप गए थे होठ हमारे सांसे भी फूल गई थी

बिना बोले ही हममें सब बात हुई थी

ऐसी दिलचस्प हममें कॉल हुई थी

दिल हमारे जोर जोर से धड़के थे

सांसे भी हमारी जलने लगी थी

बेचैनी बाहों में भरने की आउट ऑफ कंट्रोल हुई थी

भावनाओं का ऐसा ज्वार भाटा फूटा था

परमाणु विस्फोट जैसे पोखरण में हुआ था

सारी ऊर्जा कविता में बदल गई

कविता के प्यार में मैंने कलम उठा ली

प्यार में हमने बड़ा संयम दिखाया

लिखते गए अपनी भावनाओं को

देखते ही देखते

'कविता मेरी प्रियसी' कविता संग्रह लिखा गया

ऐसी प्यारी प्यारी हमारी मुलाकात हुई थी

ऐसी दिलचस्प हम में बात हुई थी


~ भरत सिंह



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts