सच्चाई's image
Share0 Bookmarks 24 Reads0 Likes
सब सही चल रहा था ज़ुबाँ खोलनेतक,
मैं भी इंसान सच्चा था सच बोलनेतक।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts