खामियां's image
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
बहोत हो गयी अब ज़माने की गलतियां,
आ बैठ दिल अपनी खामियां गिनते है।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts