ग़रीब's image
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
मुझे पता है कैसे मरते है ख़्वाब,
एक ज़माने में मैं भी ग़रीब था।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts