मोहबत का बीमा करवा ले, साकी's image
Love PoetryPoetry1 min read

मोहबत का बीमा करवा ले, साकी

aviravi.ncityaviravi.ncity March 6, 2022
Share0 Bookmarks 43 Reads0 Likes

मोहबत का बीमा करवा ले, साकी

जो अबके दिल टूटा,

 तो खूब शराब पी जायेगी

और जो अब लौट के गये तुम

तो हमसे आवाज़ नही दी जायेगी


बैठ कर इंतज़ार कर तो ले

जो अबके भी ना आये

तो किसपे एतबार की जायेगी

फिर मोहब्बत का इज़हार किया

फिर तबियत नासाज़ की जायेगी


दिनभर हलचल रही सीने मे

चारासाज़ो ने दिल को खोला

अब उसपे तुरपन की जायेगी

तुम्हारी यादें भिनभिना रही है

अब कमरे मे धुआँ की जायेगी



Avi R Mathur

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts