राष्ट्रहित्'s image
Poetry1 min read

राष्ट्रहित्

HimanshiHimanshi August 15, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes

बिखरे है राज्यों में
जुड़े है राष्ट्र से
कर्म है राष्ट्र हित
धर्म है सविधान
पहचान है तिरंगा
हमारे आस्तित्व मे है हिंदुस्तान
राष्ट्रहित सर्वोपरि
#आजादी

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts