अरमान's image
Share0 Bookmarks 0 Reads3 Likes

आगाज़ कहूं या अंजाम कहूं
या जी के सब अरमान कहूं
तुम सुनने को बस आ जाओ
फिर अपनी मैं पहचान कहूं।

आसान कहूं या कठिन कहूं 
या जज्बतो का फरमान कहुं
तुम हामी बस इक भर जाओ 
फिर किस्सा मै तमाम करूं।

अजय झा **चन्द्रम्**

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts