आज दिस्ता है हाल कुछ का कुछ's image
1 min read

आज दिस्ता है हाल कुछ का कुछ

Wali Muhammad WaliWali Muhammad Wali
0 Bookmarks 58 Reads0 Likes

आज दिस्ता है हाल कुछ का कुछ

क्यूँ न गुज़रे ख़याल कुछ का कुछ

दिल-ए-बे-दिल कूँ आज करती है

शोख़ चंचल की चाल कुछ का कुछ

मुजको लगता है ऐ परी-पैकर

आज तेरा जमाल कुछ का कुछ

असर-ए-बादा-ए-जवानी है

कर गया हूँ सवाल कुछ का कुछ

ऐ 'वली' दिल कूँ आज करती है

बू-ए-बाग़-ए-विसाल कुछ का कुछ

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts