शोर's image
0 Bookmarks 69 Reads0 Likes

मेरे भीतर इतना शोर है

कि मुझे अपना बाहर बोलना

तक अपराध लगता है

जबकि बाहर ऐसी स्थिति है

कि चुप रहे तो गए।

 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts