वसंत's image
1 min read

वसंत

TrilochanTrilochan
0 Bookmarks 42 Reads0 Likes


नव वसंत खिला जब भाग्य सा,
भुवन में तब जीवन आ गया,
गगन ने उस को अपनाव से,
अतुल गौरव से, अपना किया ।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts