लोग बहुत पास आ गए हैं's image
1 min read

लोग बहुत पास आ गए हैं

Sachchidananda Vatsyayan "Agyeya"Sachchidananda Vatsyayan "Agyeya"
0 Bookmarks 48 Reads0 Likes

लोग बहुत पास आ गए हैं।
पेड़ दूर हटते हुए
कुहासे में खो गए हैं
और पंछी (जो ऋत्विक हैं)
चुप लगा गए हैं।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts