इस सफ़र में नींद ऐसी खो गई's image
1 min read

इस सफ़र में नींद ऐसी खो गई

Rahi Masoom RazaRahi Masoom Raza
0 Bookmarks 164 Reads3 Likes
इस सफ़र में नींद ऐसी खो गई
हम न सोए रात थक कर सो गई
दामन-ए-मौज-ए-सबा ख़ाली हुआ
बू-ए-गुल दश्त-ए-वफ़ा में खो गई
हाए इस परछाइयों के शहर में
दिल सी इक ज़िंदा हक़ीक़त खो गई
हम ने जब हँस कर कहा मम्नून हैं
ज़िंदगी जैसे पशेमाँ हो गई

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts